Valsad Online
Join Telegram Valsad ValsadOnline
History

आज का इतिहास: 1917 – पहला पुलित्जर पुरस्कार दिया गया |

अमेरिका के एक प्रतिष्ठित पत्रकार थे – जोसेफ पुलित्जर। उन्होंने सेंट लुइस पोस्ट डिस्पैच और न्यूयॉर्क वर्ल्ड अखबार की शुरुआत की थी। ये दोनों अखबार बेहतरीन पत्रकारिता का उदाहरण माने जाते थे। अपनी मौत से पहले उन्होंने कोलंबिया यूनिवर्सिटी को करीब साढ़े छह करोड़ रुपए की राशि दान कर दी थी। इसी पैसे से बाद में उनके नाम पर साल 1917 से पुलित्जर पुरस्कार शुरू किया गया।

यह अमेरिका का पत्रकारिता के क्षेत्र में दिया जाने वाला सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार है। यह पुरस्कार पत्रकारों, साहित्य और संगीत रचना के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वालों को दिया जाता है। इसकी कुल 21 कैटेगरी है और पुरस्कार देने का पूरा जिम्मा कोलंबिया यूनिवर्सिटी संभालती है।

आज ही के दिन साल 1917 में पहला पुलित्जर अवॉर्ड दिया गया था। जुलिया वार्ड होवे की बायोग्राफी के लिए उनकी दो बेटियों रिचर्ड्स और मोड होवे इलियट को पुलित्जर पुरस्कार मिला था। जुलिया वार्ड होवे एक जानी-मानी महिला अधिकार कार्यकर्ता, कवयित्री और लेखिका थीं।

4 जून के दिन को इतिहास में इन महत्वपूर्ण घटनाओं की वजह से भी याद किया जाता है…

2019: जापान में ऑफिस में अनिवार्य रूप से हाई हील पहनने को लेकर सोशल मीडिया पर आंदोलन शुरू हुआ।

2010: एलन मस्क की कंपनी स्पेसएक्स ने फ्लोरिडा से रॉकेट फाल्कन-9 को लॉन्च किया।

2008: बराक ओबामा ने राष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवारी हासिल की।

2005: लालकृष्ण आडवाणी ने एक हफ्ते का पाकिस्तान का दौरा किया। आज ही के दिन आडवाणी ने कराची में मोहम्मद अली जिन्ना को धर्मनिरपेक्ष व्यक्ति बताया। आडवाणी के इस बयान पर खासा विवाद हुआ।

1973: ATM के लिए डोन वेत्जल, टॉम बार्न्स और जॉर्ज चैस्टन को पेटेंट मिला।

1972: बांग्लादेश में 2 ट्रेनों की टक्कर में 76 लोगों की मौत हो गई।

1919: अमेरिकी संविधान के 19वें संशोधन को सीनेट ने मंजूरी दी। इस संशोधन के द्वारा ही अमेरिका में महिलाओं को मताधिकार मिला।

1896: ऑटोमोबाइल कंपनी फोर्ड के मालिक हेनरी फोर्ड खुद की डिजाइन की हुई पहली ‘क्वाड्रिसाइकिल’ को लेकर डेट्रॉइट की सड़कों पर निकले।

Source

Related posts

इतिहास में आज:जब पहली बार चांद की कक्षा में पहुंचा था इंसान, वहां से चांद और धरती की फोटो साथ में आई थी

ValsadOnline

आज का इतिहास:कहानी उस प्रधानमंत्री की, जो कवि और पत्रकार भी रहे थे; जिन्होंने भारत को न्यूक्लियर स्टेट बनाया

ValsadOnline

आज का इतिहास :- आप भी जानिए क्या है ISO सर्टिफिकेशन ?

ValsadOnline