Valsad Online
Join Telegram Valsad ValsadOnline
History

आज का इतिहास : जमशेदजी टाटा का जन्मदिन

Jamsetji-Tata-hiistory-valsad-valsadonline

आज टाटा ग्रुप नमक से लेकर ट्रक तक बनाता है। पर इसे इस मुकाम तक लाने में सबसे प्रमुख भूमिका रही है जमशेदजी टाटा की। आज से ठीक 182 साल पहले उनका जन्म हुआ था। आइए, जानते हैं होटल ताज की नींव रखने वाले जमशेदजी के बारे में-

जमशेदजी का जन्म 3 मार्च 1839 में दक्षिणी गुजरात के नवसारी में पारसी परिवार में हुआ था। वहीं, 19 मई 1904 को 65 साल की आयु में उनकी मृत्यु हुई थी। उनका पूरा नाम जमशेदजी नुसीरवानजी टाटा था। मात्र 14 साल की आयु में ही जमशेदजी अपने पिता के साथ मुंबई आ गए और व्यवसाय में कदम रखा था। 17 साल की उम्र में मुंबई के एलफिंस्टन कॉलेज में प्रवेश लिया। दो साल बाद 1858 में ग्रीन स्कॉलर (स्नातक स्तर की डिग्री) बने। जमशेदजी के जीवन के बड़े लक्ष्यों में स्टील कंपनी खोलना, विश्व प्रसिद्ध अध्ययन केंद्र स्थापित करना, अनूठा होटल खोलना और पनबिजली परियोजना लगाना शामिल था। हालांकि, उनके जीवनकाल में वे सिर्फ होटल ताज ही बनवा सके। होटल ताज दिसंबर 1903 में 4 करोड़ 21 लाख रुपए के खर्च से तैयार हुआ था। यह भारत का पहला होटल था जहां बिजली की व्यवस्था थी।

जमशेदजी के बेटे दोराब टाटा ने 1907 में देश की पहली स्टील कंपनी टाटा स्टील एंड आयरन कंपनी, टिस्को खोली थी। यह कर्मचारियों को पेंशन, आवास, चिकित्सा सुविधा और कई सहूलियतें देने वाली शायद एक मात्र कंपनी थी। जमशेदजी का विजन झारखंड के जमशेदपुर में दिखता है। टाटानगर के नाम से मशहूर इस शहर को नियोजित तरीके से बसाया गया।

आज बेंगलुरू का इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (IISc) दुनिया के नामी-गिरामी संस्थानों में से एक है। इसकी स्थापना का सपना भी जमशेदजी ने ही देखा था। इसके लिए उन्होंने अपनी आधी से अधिक संपत्ति, जिनमें 14 बिल्डिंग और मुंबई की चार संपत्तियां थीं, दान दे दीं।

देश-दुनिया में घटित हुई अन्य घटनाएं इस प्रकार हैं-

2009: पाकिस्तान के लाहौर में मैच खेलने जा रही श्रीलंका की टीम की बस पर हथियारबंद हमलावरों ने गोलियां चलाईं।

2006: श्रीलंका के बल्लेबाज मुथैया मुरलीधरन ने अपना 100वां टेस्ट मैच खेलते हुए अपना 1000वां अंतरराष्ट्रीय विकेट हासिल किया। वे यह कारनामा अंजाम देने वाले दुनिया के पहले गेंदबाज।

2005: अमेरिका के रोमांच प्रेमी स्टीव फोसेट ने 67 घंटे तक लगातार बिना रुके उड़ान भरकर पृथ्वी का चक्कर पूरा किया। इस दौरान उन्होंने विमान में ईंधन भी नहीं भरा।

1974: तुर्की एयरलाइंस का जेट विमान डीसी 10 अंकारा से लंदन जाते हुए पेरिस के नजदीक दुर्घटनाग्रस्त। हादसे में विमान में सवार सभी 345 लोगों की मौत।

1971: ऐसी खबर मिली कि चीन ने अपना दूसरा भू उपग्रह अंतरिक्ष में प्रक्षेपित किया है।

1966: बीबीसी ने अगले वर्ष से रंगीन टेलीविजन प्रसारण की अपनी योजना का ऐलान किया।

1943: महात्मा गांधी ने 21 दिन से चली आ रही अपनी भूख हड़ताल को समाप्त करने का फैसला किया।

1707: औरंगजेब का निधन (1658-1707)

Source

Related posts

त्योहार का देश “हम गुड़ी पड़वा क्यों मना ते हैं”

ValsadOnline

आज का इतिहास : 1992 में राजद्रोह के मामले में गांधी जी को सुनाई थी 6 साल जेल की सजा

ValsadOnline

आज का इतिहास : ‘ खूनी रविवार ‘ रूसी क्रांति की नींव

ValsadOnline